Karnavati 24 News
તાજા સમાચાર
ताजा समाचार
विदेश

तानाशाह किम जोंग और डोनाल्ड ट्रंप का प्यार चढ़ा परवान, एक-दूसरे को भेजते हैं लेटर

उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण से पहले ही अमेरिका के साथ तनाव बढ़ा हुआ है। बता दें कि, जो बाइडेन के अमेरिकी राष्ट्रपति के कार्यभार संभालने के बाद से उत्तर कोरिया ने कई शक्तिशाली मिसाइल का परिक्षण कर लिया है।इससे पहले उत्तर कोरिया ने 2017 में तीन अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था, जो अमेरिका के भीतर तक मार करने में सक्षम हैं। दो देशों में भरपूर तनाव के बीच अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐसा दावा किया है जिसे शादय ही सच बताया जा सकता है। ट्रंप का दावा है कि, उनके सत्ता

से हटने के बाद भी तानाशाह किम जोंग से बातचीत होती रहती है। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्टर मैगी हैबरमैन ने ट्रंप के हवाले से बताया है कि, ट्रंप और किम जोंग के बीच के संबंधों में स्थिरता बनी हुई है। बता दें कि, रिपोर्टर मैगी हैबरमैन ने ट्रंप पर एक किताब लिखी है जिसका नाम है द कॉन्फिडेंस मैन और इसी किताब में किम और ट्रंप के रिश्तों का खुलासा किया गया है।

साल 2018 में डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया था, वह और किम जोंग के बीच पत्रों का लेन देन होता रहता है और इससे दोनों एक प्यार में आ गए।बता दें कि, डोनाल्ड ट्रंप के इस दावे के बाद से दुनिभार में चर्चा भी हुई थी। हालांकि ट्रंप और किम की तीन मुलाकात के बावजूद अमेरिकी पूर्व राष्ट्रपति उत्तर कोरिया और तानाशाह नेता किम जोंग को मिसाइल परीक्षण और परमाणु बम छोड़ने के लिए मना नहीं पाए थे। मैगी हैबरमैन ने कहा कि, ट्रंप द्वारा की जा रही इस दावे की पुष्टि नहीं की जा सकती है और यह सच नहीं भी हो सकता है।

एकमात्र विदेशी नेता जिसके साथ उनका अभी भी संपर्क
मैगी हैबरमैन नके मुताबिक, ट्रंप ने दावा किया है कि, वह एकमात्र ऐसे विदेशी नेता है जिनका किम जोंग के साथ अभी भी संपर्क बना हुआ है। वहीं, अमेरिका के विदेश विभाग ने ट्रंप के इस दावे पर अब कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय वाइट हाउस ने भी अब तक कोई टिप्पणी नहीं की है। उल्लेखनीय है कि, द वाशिंगटन पोस्ट के संपादक व खोजी पत्रकार बॉब वुडवर्ड की किताब रेज में भी ट्रंप ने दावा किया है कि, तानाशाह किम जोंग उन ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति को अपने फूफा की हत्या का किस्सा बताया था। बता दें कि, साल 2013 में तानाशाद किम जोंग के फूफा जांग सांग थायक उत्तर कोरिया के सबसे ताकतवर नेता थे। ट्रंप ने यह भी दावा किया है कि, कुछ साल पहले जब तानाशाह किम जोंग उनसे मिले तो दोनों के बीच काफी गर्मजोशी के साथ बात हुई थी। ट्रंप ने किताब के लेखक को यह भी बताया था कि, किम जोंग ने उन्हें हर चीज बताते है। यहां तक की, किम ने यह भी बताया कि, उसने अपने फूफा की हत्या की थी और कदमों में उनका शरीर रखा दिया था फिर छाती पर बैठकर उनका सिर काटा था।

संबंधित पोस्ट

UK: पीएम बोरिस जॉनसन पर आरोप, अफगानिस्तान निकासी अभियान में इंसानों से ज्यादा ‘जानवरों’ को जरूरी समझा, ईमेल से खुलासा

Karnavati 24 News

कान्स फिल्म फेस्टिवल में जेलेंस्की ने पुतिन पर साधा निशाना, कहा- नफरत खत्म होगी और तानाशाह मर जाएगा

Karnavati 24 News

श्रीलंका की सरकार अपने लेन-देन का दुनिया के सामने रखेगी लेखा-जोखा,

Karnavati 24 News

यूक्रेनी हवाई क्षेत्र बंद; कीव के रास्ते में एयर इंडिया के विमान को वापस बुलाया गया

Karnavati 24 News

रूस-यूक्रेन युद्ध अपडेट: यूक्रेन में केमिकल प्लांट के एसिड टैंक पर रूस का हमला, जेलेंस्की कहते हैं – यह पागलपन है

Karnavati 24 News

इजरायल सरकार खतरे में: पीएम नफ्ताली बेनेट बोले- गठबंधन संभालना मुश्किल, 2 हफ्ते में जा सकती है कुर्सी

Karnavati 24 News