Karnavati 24 News
તાજા સમાચાર
ताजा समाचार
विदेश

 अमेरिका में कोरोना कहर! सामने आएं इतने मामले, अस्पताल में भर गए सारे वेंटिलेटर

न्यूयॉर्क। अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण ने सबसे ज्यादा हड़कंप मचाया हुआ है। यहां पर हर दिन 10 लाख से अधिक कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं। संक्रमितों को अस्पतालों में जगह नहीं मिल रही है, लेकिन कोरोना का मौजूद वेरिएंट डेल्टा की तुलना में हल्का है।

 

विशेषज्ञों का मानना है कि अस्पतालों में वेंटिलेटर की जररूत नहीं पड़ रही है। सामने आ रहे इस तरह के दावों के बीच अमेरिकी महामारी विशेषज्ञ फहीम योनुस ने सभी को चेताते हुए कहा कि कोरोना के नए वेरिएंट ‘ओमीक्रोन’ को हल्का समझने की भूल नहीं करें। उन्होंने कहा कि इस ओमीक्रोन को हल्के में न लें, क्योंकि उनके अस्पताल में सारे वेंटिलेटर भर गए हैं।

अमेरिकी यूनिवर्सिटी ऑफ मेरिलैंड में महामारी मामलों के विशेषज्ञ डॉ. फहीम योनुस ने मेरिलैंड के अस्पताल में आईसीयू भरे होने की जानकारी देते हुए एक ट्वीट में लिखा कि मेरे अस्पतालों में 100 फीसदी वेंटिलेटर का इस्तेमाल कोरोना मरीजों के लिए हो रहा है। मास्क पहने, कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज लें और भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। वहीं उन्होंने इस तरह के दावों को भी खारिज किया, जिसमें कहा गया कि ओमीक्रोन से बचना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि आप इस खतरे से बच सकते हैं और आपको इससे बचना चाहिए। दरअसल, उन्होंने मास्क पहनने और वैक्सीन की बूस्टर डोज लेने पर जोर दिया।

ओमीक्रोन से बचने के लिए लें बूस्टर डोज !

डॉ. फहीम योनुस ने एक अन्य ट्वीट में संक्रमित हो रहे लोगों की क्रोनोलॉजी समझाई। उन्होंने अपने अस्पताल के कोरोना मरीजों के आंकड़ों के हिसाब से एक डेटा तैयार किया। जिसके मुताबिक उनके अस्पताल में भर्ती हुए कोरोना संक्रमितों में से 76 फीसदी ऐसे हैं, जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली है। जबकि वैक्सीन की एक या फिर दो डोज ले चुके संक्रमित लोगों की संख्या 24 फीसदी है और बूस्टर डोज लेना वाला कोई भी संक्रमित व्यक्ति उनके अस्तपाल में नहीं है। वहीं उन्होंने एक अध्ययन के माध्यम से बताया कि बूस्टर डोज ने कोरोना से होने वाले मौत के खतरे को 90 फीसदी तक कम कर दिया है।

कुछ हफ्तों में खत्म हो जाएगी लहर

डॉ. फहीम योनुस का मानना है कि ओमीक्रोन की लहर कुछ हफ्तों में खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि आप इस संक्रमण को रोक सकते हैं। इसके लिए आप लोगों को मास्क पहनना पड़ेगा और भीड़-भाड़ वाली जगहों से दूरियां बनानी होगी। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि यह एक खतरनाक और लापरवाह विचार है कि ‘ओमीक्रोन इतना ज्यादा संक्रामक है कि सभी इसकी चपेट में आ जाएंगे। इसे रोकने की कोशिश करने का कोई मतलब नहीं है। यह सबसे अच्छी वैक्सीन है। कृपया इस पर विश्वास न करें।’ ओमीक्रोन की लहर कुछ हफ्तों में खत्म हो जाएगी।

संबंधित पोस्ट

बरसों से चुप बैठा जर्मनी अचानक F-35 लड़ाकू विमान क्यों खरीद रहा, रूस से टेंशन का असर तो नहीं?

Karnavati 24 News

इजरायल सरकार खतरे में: पीएम नफ्ताली बेनेट बोले- गठबंधन संभालना मुश्किल, 2 हफ्ते में जा सकती है कुर्सी

Karnavati 24 News

यूक्रेन को लेकर तनाव में हुई कमी

Karnavati 24 News

रूस से चर्चा के बीच यूक्रेन को आया NATO से न्योता, उलटा न पड़ जाए ये दांव, जानें

Karnavati 24 News

श्रीलंका में गहराया आर्थिक संकट: स्ट्रीट लाइटें बंद, दशकों बाद देश में 13 घंटे की बिजली कटौती, राष्ट्रपति आवास के बाहर प्रदर्शन

Karnavati 24 News

पाक की राजनीति: राष्ट्रीय सुरक्षा समिति ने कहा- इमरान सरकार गिराने में अमेरिका का हाथ नहीं, साजिश के आरोप बेबुनियाद

Karnavati 24 News