Karnavati 24 News
તાજા સમાચાર
ताजा समाचार
खेल

पिता को खोया, दो बार चैंपियन रह चुकीं पूजा रानी पहुंची टूर्नामेंट तैयारियों के लिए राष्ट्रीय शिविर

पिछले हफ्ते पिता के निधन के गम का सामने करने वाली दो बार की एशियन चैंपियन पूजा रानी अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट स्ट्रेंडजा मेमोरियल की तैयारियों के लिए राष्ट्रीय शिविर पहुंच गई। टोक्यो ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाली 81 किग्रा भार वर्ग की मुक्केबाज 18 फरवरी से बुल्गारिया के सोफिया में आयोजित प्रतियोगिता के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। बातचीत में बताया कि वह कल ही राष्ट्रीय शिविर पहुंची हैं। उनकी आवाज में पिता के निधन का दर्द भी मौजूद था। उन्हें जीवन में उतार-चढ़ाव और मुश्किलों का सामना करने की आदत है। चाहे वह करिअर को प्रभावित करने वाली कंधे की चोट हो या एक बड़े टूर्नामेंट से पहले हाथ का जल जाना। पूजा इस बात को समझती है कि जिंदगी का काम आगे बढ़ते रहना है।

उनके पिता राजवीर सिंह हरियाणा पुलिस के सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर थे। पूजा ने बताया कि पिछले महीने भाई की शादी के पांच दिन बाद जब मैं शिविर लौटी तो पता चला कि 1 फरवरी की सुबह अचानक दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई। इस सदमे से निकलने कठिन था। वह मेरी सबसे बड़े प्रेरणा थे। मैं उनके बहुत करीब थी। जब मैं शिविर वापस आ रही थी, तो मुझे विदा करते समय उन्होंने विजय चिन्ह बना कर दिखाया था, मैं इसे दिमाग से नहीं निकाल सकती। मुझे उम्मीद है कि मैं अपने खेल से उन्हें गौरवान्वित महसूस करा सकूं। इस दौरान बताया कि इन घटनाओं से तैयारी करने का मौका नहीं मिली, फिर भी स्ट्रेंडजा में अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगी। इस टूर्नामेंट के जरिए यूरोपीय सत्र की शुरुआत होगी, जिसमें पुरुष और महिला मुक्केबाज दोनों शामिल होंगे।

संबंधित पोस्ट

Rishabh Pant Car Accident: टीम इंडिया के क्रिकेटर ऋषभ पंत के साथ सड़क हादसा, गाड़ी चलाते वक्त सो गए थे पंत

Admin

मौसम के बीच क्रिकेट प्रेमी असमंजस में..9 अक्टूबर को होना है भारत-द अफ्रीका के बीच मैच

मोहित शर्मा ने IPL में की शानदार वापसी, कहा- नेट बॉलर होना बुरी बात नहीं

Admin

IND vs SA: इस प्लेइंग XI के साथ दूसरे वनडे में उतरेगी टीम इंडिया! साउथ अफ्रीका के खिलाफ करो या मरो का है सवाल

Karnavati 24 News

भारत ने वेस्ट इंडीज को हराकर जीती सीरीज कई युवा चमके

Karnavati 24 News

નિખાત બાદ લવલીનાએ પણ મેળવ્યો ગોલ્ડ, ભારતનો આ ચોથો ગોલ્ડ