Karnavati 24 News
તાજા સમાચાર
ताजा समाचार
विदेश

अंटार्कटिका में 85,000 भूकंप: अंटार्कटिका में आया यह अब तक का सबसे खतरनाक भूकंप, पानी के भीतर ज्वालामुखी है वजह

 

साल 2020 में 4 महीने के अंतराल में अंटार्कटिका में करीब 85 हजार भूकंप आए। जीएफजेड जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जियोसाइंस ने एक नए शोध में यह खुलासा किया है। दरअसल, अंटार्कटिका में पानी के नीचे एक सोता हुआ ज्वालामुखी जाग उठा, जिससे वहां की धरती कांप उठी।

दो बड़े भूकंपों से कांप उठी अंटार्कटिका की धरती

वैज्ञानिकों का कहना है कि ये भूकंप अगस्त 2020 में शुरू हुए और नवंबर 2020 तक जारी रहे। दो सबसे बड़े भूकंप 5.9 और 6 तीव्रता के थे। इन भूकंपों के कारण अंटार्कटिका में स्थित किंग जॉर्ज द्वीप अपनी जगह से 4.3 इंच खिसक गया है। ये अंटार्कटिका में दर्ज किए गए अब तक के सबसे घातक भूकंप हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार, इस तरह की आपदाएं पृथ्वी के कई हिस्सों में देखी गई हैं, लेकिन पहली बार अंटार्कटिका में यह गतिविधि हुई है।

पृथ्वी पर एक साथ ऐसी गतिविधियां दुर्लभ हैं

रिसर्च में शामिल डॉ. सामोन चेस्का ने लाइव साइंस वेबसाइट से बातचीत में बताया कि धरती पर ऐसी गतिविधियां इंसानों ने अपने जीवनकाल में कम ही देखी हैं. चेस्का के अनुसार, हम बहुत भाग्यशाली हैं कि हम अंटार्कटिका में हजारों भूकंपों को देख पाए हैं।

अंटार्कटिका की मिट्टी में पैदा हो रहे फॉल्ट जोन

आपको बता दें कि ये भूकंप ओर्का सीमाउंट ज्वालामुखी के आसपास के इलाके में आए। यह ज्वालामुखी ब्रांसफील्ड जलडमरूमध्य में समुद्र तल से 900 मीटर की ऊंचाई पर है। यह अंटार्कटिका के उत्तर-पश्चिमी छोर पर स्थित है।

पोलर साइंस जर्नल में प्रकाशित 2018 के एक शोध के अनुसार, फीनिक्स टेक्टोनिक प्लेट अंटार्कटिक महाद्वीप की टेक्टोनिक प्लेट के नीचे तैर रही है। इससे क्षेत्र में फॉल्ट जोन बन रहे हैं और कुछ हिस्से दरारें बनाकर खिंचे जा रहे हैं।

शोध के लिए स्थानीय भूकंप स्टेशनों का डेटा देखें

शोध दल ने जानना चाहा कि अंटार्कटिका के किंग जॉर्ज द्वीप पर किस तरह की गतिविधियां हो रही हैं। लेकिन जगह की दूरदर्शिता के कारण, चेस्का और उनके सहयोगियों ने ग्लोबल सैटेलाइट नेविगेशन सिस्टम के लिए दो स्थानीय भूकंप स्टेशनों सहित अन्य भूकंप स्टेशनों के डेटा का इस्तेमाल किया।

ज्वालामुखी फटा, कहना मुश्किल

वैज्ञानिकों का कहना है कि फिलहाल यह बताना मुश्किल है कि ज्वालामुखी के पानी के नीचे उठने पर कोई विस्फोट हुआ है या नहीं. माना जा रहा है कि अंटार्कटिका का अंडरवाटर ज्वालामुखी सिर्फ फटने की कगार पर है.

संबंधित पोस्ट

बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा- अगले पीएम बनने के लिए सबसे आगे कौन हैं?

Karnavati 24 News

यूक्रेन में फंसे अपने नागरिकों के लिए फुल एक्शन मोड में भारत, कंट्रोल रूम बनाए, हेल्पलाइन नं किया जारी, अब लिया ये बड़ा फैसला

Karnavati 24 News

अमेरिका ने एच-1बी रिजिग में काम पर रखने के लचीले नियमों और एक तेज स्थायी निवास आवेदन प्रक्रिया का प्रस्ताव किया है।

Karnavati 24 News

सिंगापुर के पीएम ने भारतीय सांसदों पर की आपत्तिजनक टिप्पणी, भारत ने जताया कड़ा विरोध

Karnavati 24 News

इन 7 खिलाी में “स्वैप” करने के बाद भी विफल होने पर, “स्वयं को कमतर आंककर ने गलती की?

Karnavati 24 News

પૂર્વ પાક પીએમ ઈમરાન ખાનની ધરપકડ, સુરક્ષા કર્મચારીઓ તેમને કોર્ટમાંથી લઈ ગયા; સમર્થકોનો હોબાળો

Admin