Karnavati 24 News
તાજા સમાચાર
ताजा समाचार
बिज़नेस

IAMAI ने बनाया इंडिया एडटेक कंसोर्टियम, बच्चों को मिलेगी गुणवत्तापूर्ण और सस्ती शिक्षा!

IAMAI ने बुधवार को ऐडटेक कंसोर्टियम के गठन की घोषणा की, जिसमें EdTech Sector की बायजू, सिम्प्लीलर्न, अनऐकेडमी, अपग्रेड, वेदांतु समेत तमाम बड़ी कंपनियां शामिल हैं
इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI) ने बुधवार को ऐडटेक कंसोर्टियम (India Edtech Consortium) के गठन की घोषणा की, जिसमें शिक्षा-प्रौद्योगिकी क्षेत्र (EdTech Sector) की बायजू, सिम्प्लीलर्न, अनऐकेडमी, अपग्रेड, वेदांतु समेत तमाम बड़ी कंपनियां शामिल हैं. आईएएमएआई ने एक बयान में कहा कि सरकार द्वारा हाल ही में दिए गए परामर्श के मुताबिक आईईसी यह सुनिश्चित करेगा कि सभी बच्चों को क्वालिटी और किफायती शिक्षा मिल सके. बयान में कहा गया कि संघ के मूल में उपभोक्ता का हित है और ऐडटेक कंपनियों ने प्रतिबद्धता जताई है कि वे साझा ‘आचार संहिता’ का पालन करेंगी और दो स्तरीय शिकायत निवारण तंत्र की स्थापना कर यह सुनिश्चित करेंगी कि उद्योग का सकारात्मक प्रभाव प्रत्येक पात्र उपभोक्ता तक पहुंचे और साथ ही उनके हितों की रक्षा हो एवं उनके अधिकारों को बढ़ावा मिले.

छात्रों की सुरक्षा के लिए सुनिश्चित होंगे नैतिक मानक
आईएएमएआई के अध्यक्ष शुभो रे ने कहा, ‘‘आईएएमएआई और आईईसी के सदस्य ऑनलाइन शैक्षणिक मंचों पर छात्रों की सुरक्षा के लिए नैतिक मानकों को सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’’ उन्होंने कहा कि इस सेल्फ रेगुलेटरी बॉडी का गठन छात्रों की सुरक्षा की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है जहां अधिक से अधिक छात्र, शिक्षक और अन्य हितधारक ऑनलाइन एजुकेशन पारिस्थितिकी तंत्र का हिस्सा बन रहे हैं.

बायजू, करियर्स 360, क्लासप्लस, डाउटनट, ग्रेट लर्निंग, हड़प्पा, टाइम्स ऐड्युटेक ऐंड इवेंट्स लिमिटेड, टॉपर, अनऐकेडमी, व्हाइटहैट जूनियर जैसी ऐडटेक क्षेत्र की कई कंपनियां आईईसी से जुड़ी हैं.

शिक्षा प्रणाली के केंद्र में होने चाहिए छात्र
अपग्रेड के सह-संस्थापक एवं प्रबंध निदेशक और आईएएमएआई ऐडटेक समिति के सह-अध्यक्ष मयंक कुमार ने कहा, ‘‘यह पहल ऐडटेक क्षेत्र को मजबूत करने और अध्ययन के क्षेत्र में भारत को दुनिया की राजधानी के तौर पर स्थापित करने में काफी सहायक साबित होगी.’’

बायजू की सह-संस्थापक दिव्या गोकुलनाथ ने कहा, ‘‘हमारा हमेशा से मानना है कि शिक्षा प्रणाली के केंद्र में छात्र होने चाहिए और शिक्षकों को शिक्षण बेहतर बनाने और उसके सशक्तीकरण के लिए सही प्रक्रियाएं एवं तरीके तैयार करने चाहिए.’’

पीटीआई इनपुट्स के साथ

संबंधित पोस्ट

હીરા પેઢી પક ઈન્કમ ટેક્સની રેડ અભી જારી, સુરતમાં 200 કરોડના ડૉક્યુમેન્ટ મળ્યા Article General User ID: NAVNR160 National 8 min 4 1

Admin

ट्रेनों की लेतलतीफी शुरू: उत्तर भारत में ठंड-कोहरे से यूपी-बिहार से आने वाली ट्रेनें 1 से 5 घंटे तक लेट, बरौनी-अहमदाबाद ट्रेन 5 घंटे देरी से सूरत पहुंची

Admin

रिकॉर्ड स्तर पर महंगाई: थोक महंगाई लगातार दूसरे महीने 15% से ऊपर, सब्जियों के दाम मई WPI को 15.88% तक ले गए

Karnavati 24 News

Gold price today : एक महीने के निचले स्‍तर से चढ़ा Gold का भाव, जानें आज क्‍या है 10 ग्राम का रेट

Karnavati 24 News

सोशल मीडिया स्टॉक्स ने विज्ञापन खर्च करने पर बाजार मूल्य में $42 बिलियन का नुकसान तय किया

Karnavati 24 News

आकाश से पाताल तक कस्तूरी: इलेक्ट्रिक कार और रॉकेट ही नहीं, सुरंग का भी एक उपक्रम, ग्राफिक में देखें एलोन मस्क की पूरी दुनिया

Karnavati 24 News